Category: Hindi

अनिश्चयवाचक सर्वनाम 0

अनिश्चयवाचक सर्वनाम – परिभाषा, उदाहरण

अनिश्चयवाचक सर्वनाम दोस्तों आज हम पढेंगें अनिश्चयवाचक सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरणके बारे में जो कि प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं। पूरा पढ़ने के बाद कैसा लगा ये Topic कैसा लगा हमें comment में जरूर...

निश्चयवाचक सर्वनाम - परिभाषा, उदाहरण 0

निश्चयवाचक सर्वनाम – परिभाषा, उदाहरण

निश्च्यवाचक सर्वनाम की परिभाषा   दोस्तों आज हम पढेंगें निश्चयवाचक सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरणके बारे में जो कि प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं। पूरा पढ़ने के बाद कैसा लगा ये Topic (निश्चयवाचक...

सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरण(In Hindi) 0

सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरण(In Hindi)

सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरण   दोस्तों आज हम पढेंगें सर्वनाम की परिभाषा और उदाहरणके बारे में जो कि प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं। पूरा पढ़ने के बाद कैसा लगा ये Topic (सर्वनाम...

प्लुत स्वर 0

प्लुत स्वर

प्लुत स्वर   जिन स्वरों के उच्चारण में दीर्घ स्वरों से भी अधिक समय लगता है उन्हें प्लुत स्वर कहते हैं। प्रायः इनका प्रयोग दूर से बुलाने में किया जाता है। इनकी मात्रा ३...

वात्सल्य रस 0

हिंदी व्याकरण में वात्सल्य रस

वात्सल्य रस   माता का पुत्र के प्रति प्रेम, बड़ों का बच्चों के प्रति प्रेम, गुरुओं का शिष्य के प्रति प्रेम, बड़े भाई का छोटे भाई के प्रति प्रेम आदि का भाव स्नेह या अनुरागकहलाता...

वीर रस 0

हिंदी व्याकरण में वीर रस

  युद्ध अथवा किसी कठिन कार्य को करने के लिए हृदय में जो उत्साह जाग्रत होता है, उससे ‘वीर रस’ की निष्पत्ति होती है। वीर रस का स्थायी भाव “उत्साह” होता है उदाहरण- वह खून...