Category: Hindi

हिंदी व्याकरण में श्रृंगार रस 0

हिंदी व्याकरण में श्रृंगार रस

हिंदी व्याकरण में श्रृंगार रस श्रृंगार रस (Shringar Ras) में नायक और नायिका के मन में स्थित रति या प्रेम जब रस के अवस्था में पहुंच जाता है तो वह श्रृंगार रस (Shringar Ras)...

हिंदी व्याकरण में हास्य रस 0

हास्य रस

हास्य रस   जहाँ वेशभूषा, वाणी आदि की विकृति या विचित्र स्थितियोंको देखकर मन में जो विनोद का भाव उत्पन्न होता है उससे हास की उत्पत्ति होती है, इसे ही हास्य रस कहा जाता...

हिंदी व्याकरण में रस 0

हिंदी व्याकरण में रस

हिंदी व्याकरण में रस “रस्यते इति रसः” के अनुसार रस का ताात्पर्य स्वाद से है। जिस प्रकार से भोजन जब मुख में डाला जाता है तब अनेक प्रकार का स्वाद प्राप्त होता है ठीक...

कर्मधारय-समास 0

कर्मधारय समास

3)द्विगु समास जिस समास का पूर्वपद संख्यावाचक विशेषण हो उसे द्विगु समास कहते हैं। इससे समूह अथवा समाहार का बोध होता है। जैसे – तीन लोकों का समाहार = त्रिलोक पाँचों वटों का समाहार...

समास इन हिंदी 0

समास इन हिंदी

“समास इन हिंदी” समास का अर्थ होता है संछिप्तीकरण अथार्त ‘छोटा रूप’ जब दो या दो से अधिक शब्द अपने बीच की विभक्तियों का लोप कर जो संक्षेप रूप बनाते है, उसे समास कहते है। समास में...

Hindi Muhavare Aur Unke Arth 0

Hindi Muhavare Aur Unke Arth (मुहावरे और उनके अर्थ )

Hindi Muhavare Aur Unke Arth मुहावरा शब्द अरबी भाषा से लिया गया है मुहावरे का प्रयोग सामान्य अर्थ न कहकर विशेष अर्थ को बताने के लिये प्रयोग किया जाता है। ऐसा वाक्य कथन या...