कर्मधारय-समास 0

कर्मधारय समास

3)द्विगु समास जिस समास का पूर्वपद संख्यावाचक विशेषण हो उसे द्विगु समास कहते हैं। इससे समूह अथवा समाहार का बोध होता है। जैसे – तीन लोकों का समाहार = त्रिलोक पाँचों वटों का समाहार...

समास इन हिंदी 0

समास इन हिंदी

“समास इन हिंदी” समास का अर्थ होता है संछिप्तीकरण अथार्त ‘छोटा रूप’ जब दो या दो से अधिक शब्द अपने बीच की विभक्तियों का लोप कर जो संक्षेप रूप बनाते है, उसे समास कहते है। समास में...

कुछ महत्वपूर्ण स्थानीय पवनें 0

कुछ महत्वपूर्ण स्थानीय पवनें

कुछ महत्वपूर्ण स्थानीय पवनें स्थानीय पवनों के नाम प्रकृति क्षेत्र लू गर्म एवं शुष्क भारत हबूब गर्म उत्तरी सूडान चिनूक गर्म एवं शुष्क संयुक्त राज्य अमेरिका मिस्ट्रल ठंडी स्पेन एवं फ़्रांस हरमट्टन गर्म एवं...

विश्व की प्रमुख झीलें 0

विश्व की प्रमुख झीलें

दोस्तों आज हम पढेंगें विश्व की प्रमुख झीलें के बारे में जो कि प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं। पूरा पढ़ने के बाद कैसा लगा ये Topic (विश्व की प्रमुख झीलें) कैसा लगा हमें comment...

विश्व के प्रमुख महासागरीय गर्त 0

विश्व के प्रमुख महासागरीय गर्त

गर्त का नाम   गहराई (मीटर में) महासागर मेरियाना (गुआम द्वीप )   11,o22 उत्तरी प्रशांत महासागर टोंगा (समोआ द्वीप )   10,880 दक्षिणी प्रशांत महासागर मिंडानाओ अथवा फिलीपींस   10,475 उत्तरी प्रशांत महासागर प्यूर्टोरिको   8,605 उत्तरी अटलांटिक महासागर दक्षिणी सैन्डविच अथवा रॉक   8,325 दक्षिणी अटलांटिक महासागर रोमशे गर्त   दक्षिणी अटलांटिक महासागर जावा अथवा सुण्डा   7,725 हिन्द महासागर अटाकामा(पेरू – चिली)  ...

भारत में राष्‍ट्रीय जलमार्ग 0

भारत में राष्‍ट्रीय जलमार्ग

भारत में राष्ट्रीय जलमार्गो की कुल संख्या 6 हैं। N.W.-1 – इलाहाबाद से हल्दिया N.W.-2 – सादिया से धुबरी पट्टी N.W.-3 – कोल्लम से कोट्टापुरम N.W.-4 – काकीनाडा से मरक्कानम N.W.-5 – तलचर से धमरा N.W.-6 – लखीपुर से भंगा राष्ट्रीय जलमार्ग...